सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
परमात्मा की छत्रछाया में रहें तोे सदा हल्के रहेंगे: बीके बृजमोहन भाई ईशु दादी का जीवन समर्पण भाव और ईमानदारी की मिसाल था ब्रह्माकुमारीज़ जैसा समर्पण भाव दुनिया में आ जाए तो स्वर्ग बन जाए: मुख्यमंत्री दिव्यांग बच्चों को सिखाई राजयोग मेडिटेशन की विधि आप सभी परमात्मा के घर में सेवा साथी हैं थॉट लैब से कर रहे सकारात्मक संकल्पों का सृजन नकारात्मक विचारों से मन की सुरक्षा करना बहुत जरूरी: बीके सुदेश दीदी
ब्रह्माकुमारी अरुणा बहन को “डॉक्टरेट इन लिटरेचर” की उपाधि से सम्मानित - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
ब्रह्माकुमारी अरुणा बहन को “डॉक्टरेट इन लिटरेचर” की उपाधि से सम्मानित

ब्रह्माकुमारी अरुणा बहन को “डॉक्टरेट इन लिटरेचर” की उपाधि से सम्मानित

वंडर्स ऑफ ब्रह्माकुमारीज
  • इसरो के पूर्व अध्यक्ष डॉ के सिवन जी के द्वारा यह उपाधि प्रदान की गई।

शिव आमंत्रण, बड़ोदरा। सामाजिक परिवर्तन के उत्कृष्ट प्रयासों की श्रेणी में दी गई इस इस उपाधि का यह दीक्षांत समारोह इसरो के पूर्व अध्यक्ष डॉ के सिवन के अतिरिक्त प्रोफेसर आर एस एस मणि (वाइस प्रेसिडेंट इंस्टीट्यूशनल डेवलपमेंट- आईटीएम ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस) एवं डॉ अनिल बिसेन जी (कुलपति आईटीएम वोकेशनल यूनिवर्सिटी) एवं ब्रह्माकुमारी राज दीदी जी (इंचार्ज मंगलवाड़ी सबजोन बड़ोदरा) की उपस्थिति में आयोजित हुआ।

ब्रह्माकुमारी अरुणा बहन बाल्य काल से ही ईश्वरीय ज्ञान से जुड़े परिवार के आध्यात्मिक वातावरण में पली बढ़ी हैं। बाल्यावस्था के इन्हीं संस्कारों की वजह से शुरू से ही आध्यात्मिकता में रुचि होने के कारण आज ब्रह्माकुमारी अरुणा बहन एक अनुभवी राजयोग प्रशिक्षिका हैं जो कि विगत 30 वर्षों से राजयोग के माध्यम से सकारात्मक चिंतन शैली द्वारा मानसिक विकास एवं खुशनुमा व्यवहार कला प्रशिक्षण द्वारा हजारों लोगों के जीवन में परिवर्तन की प्रेरणा स्रोत बनी हैं। आपकी विशेषता रही है की समाज का साधारण वर्ग हो या उच्च वर्ग दोनों ही क्षेत्र में आपने संतुलित रूप से मूल्यनिष्ठ सेवाएं प्रदान की। ब्रह्माकुमारीज संस्थान में 30 वर्षों से समर्पित रूप से सेवाएं देते हुए आपके नेतृत्व में संस्था के बील चापड़ चांसद एवं कलाली क्षेत्रों में स्थित उपसेवकेन्द्रों एवं आसपास के गांव में स्थित लगभग 20 ब्रह्माकुमारीज पाठशालाओं के द्वारा जन-जन तक राजयोग प्रशिक्षण सेवाएं प्रदान की गईं और अनेक सामाजिक नैतिक संदेश देने के कार्यक्रम आयोजित करते हुए सामाजिक परिवर्तन की लहर फैलाने के कार्यक्रम आयोजित हुए जिनमें ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष रूप से आध्यात्मिक जागृति और व्यसन मुक्ति कार्यक्रम एवं किसानों के लिए कृषि सुधार संबंधी सेवाएं व्यापक रूप से की गईं।

सामान्य जनमानस के अतिरिक्त समाज के उच्च वर्ग  में आध्यात्मिक रुचि और विश्वास जगाने के निरंतर कई प्रोग्राम आयोजित किए जिसमें इंडस्ट्रियलिस्ट, उच्च शासकीय अधिकारी, डॉक्टर्स एवं व्यापारियों की सेवाएं उल्लेखनीय है जिससे उनके निजी जीवन में कार्य प्रबंधन एवं तनाव प्रबंधन में सकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए और समाज के अनेक प्रबुद्ध और अग्रणी लोग ईश्वरीय आध्यात्मिक सेवाओं में विशेष सहयोगी बने।

कार्यक्रम में उपाधि सम्मान पत्र स्वीकार करते हुए अरुणा बहन ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह सम्मान एक ईश्वरीय आशीर्वाद है जिसका उद्देश्य मुझे आगे और भी श्रेष्ठ सेवाओं के लिए निमित्त बनने की प्रेरणा एवं परमात्म योजना है। जितना बड़ा यह सम्मान है उतनी ही हमारी जिम्मेवारी भी बड़ी हो जाती है तो इस अवसर पर मैं यही शुभ संकल्प करती हूं कि आपके और परमात्मा पिता के विश्वास को कायम रखने का पूर्ण प्रयास करूंगी और पूरी निष्ठा और सच्चाई के साथ आगे और भी समाज की सेवा में अपना श्रेष्ठतम योगदान ईश्वरीय सेवा में अर्पित करूंगी।

उक्त सामाजिक परिवर्तन के उत्कृष्ट प्रयासों के लिए प्राप्त उपाधि के दीक्षांत समारोह में यूनिवर्सिटी कमेटी के अतिरिक्त छात्र, छात्र अभिभावक एवं अटलादरा सेवाकेंद्र के वरिष्ठ भाई बहन भी विशेष रूप से सम्मिलित हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *