सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
परमात्मा की छत्रछाया में रहें तोे सदा हल्के रहेंगे: बीके बृजमोहन भाई ईशु दादी का जीवन समर्पण भाव और ईमानदारी की मिसाल था ब्रह्माकुमारीज़ जैसा समर्पण भाव दुनिया में आ जाए तो स्वर्ग बन जाए: मुख्यमंत्री दिव्यांग बच्चों को सिखाई राजयोग मेडिटेशन की विधि आप सभी परमात्मा के घर में सेवा साथी हैं थॉट लैब से कर रहे सकारात्मक संकल्पों का सृजन नकारात्मक विचारों से मन की सुरक्षा करना बहुत जरूरी: बीके सुदेश दीदी
*प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय में धूमधाम से मातृत्व दिवस मनाया गया।* - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
*प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय में धूमधाम से मातृत्व दिवस मनाया गया।*

*प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय में धूमधाम से मातृत्व दिवस मनाया गया।*

राज्य समाचार

 *संस्कार सृजन समर कैंप के पांचवें दिन बच्चों ने अपनी-अपनी मां को सम्मानित किया।*

शिव आमंत्रण,आबू रोड।ब्रह्माकुमारीज की क्षेत्रीय शाखा तपोवन काम्प्लेक्स नवजीवन विहार विंध्यानगर में आज समर कैंप के पांचवें दिन मातृ दिवस मनाया गया। मातृ दिवस का विषय था स्वस्थ एवं स्वच्छ परिवार के लिए माताओं की भूमिका। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में ज्वालामुखी मंदिर की मुख्य पुजारी शलोकी मिश्रा, विशिष्ट अतिथि श्रीमती आशा गुप्ता, एनटीपीसी विंध्य नगर के डी.जी.एम. आशुतोष अरोरा, ग्वालियर से पधारी ब्रह्माकुमारी ज्योति बहन, भोपाल से पधारी ब्रह्माकुमार दीपेंद्र, क्षेत्रीय शाखा की प्रभारी ब्रह्माकुमारी शोभा बहन एवं कैंप अटेंड कर रहे बच्चों के माता पिता जी भी उपस्थित थे।

बच्चों ने अपनी-अपनी मां को सम्मानित किया तथा उनके सम्मान में गीत, कविता, भाषण एवं नृत्य प्रस्तुत किए। 

ज्वालामुखी मंदिर शक्तिपीठ से पधारे शलोकी मिश्रा ने मुख्य वक्तव्य देते हुए कहा कि माता को हरेक जन ज्ञान,धन, बल की प्राप्ति के लिए पूजते है और माता ही प्रथम गुरु भी मानी जाती है। ग्वालियर से पधारी ब्रह्माकुमारी ज्योति बहन ने सभी को कार्यक्रम के विषय को स्पष्ट करते हुए कहा कि मां सारे परिवार की आधारशिला होती है और श्रेष्ठ संस्कार दायिनी भी है। माताएं ही स्वस्थ एवं स्वच्छ समाज का निर्माण कर सकतीं हैं।

विशिष्ट अतिथि श्रीमती आशा गुप्ता जी ने कार्यक्रम में अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा ब्रह्माकुमारीज द्वारा किया जा रहा बच्चों के लिए यह समर कैंप और उनके मन में आध्यात्मिक बातों के प्रति रुझान तथा मात पिता के प्रति सम्मान की बातें जो दी जा रही है वह अपने आप में बहुत ही अनूठी हैं ऐसे कार्यक्रम हर वर्ष होते रहे जिससे हर परिवार के बच्चों को माता-पिता को कार्यक्रम का लाभ मिलता रहे और वह भी अपने जीवन को परमात्मा के ध्यान से तनाव मुक्त बना सके इसी तारतम्य में एनटीपीसी के डी.जी.एम अरोड़ा जी ने भी अपने जीवन का अनुभव सभी के बीच साझा किया कि जब से मैं इस ब्रह्माकुमारी से जुड़ा हूं मेरा जीवन तनाव मुक्त हो चुका है तथा मेरा यही लक्ष्य है कि मैं भी अपना कार्य करते हुए कुछ समय लोगो के जीवन की तनाव को समाप्त करने में अपना सहयोग दूं और जब जो मुझे समय मिलता है मैं ब्रह्माकुमारीज द्वारा किए जा रहे कार्यक्रम में अपना भरपूर सहयोग करता हूं कार्यक्रम के अंत में परिसर की संचालिका ब्रह्माकुमारी शोभा बहन ने तहे दिल से आए हुए सभी मेहमानों का तथा सिंगरौली से बाहर के शहरों से भी पधारे वक्तागण का धन्यवाद किया और आग्रह किया जिस प्रकार इस समर कैंप में माता-पिता ने अपने बच्चों को भेज कर हमारा मान रखा है इस प्रकार इन आध्यात्मिक कार्यक्रमों में खुद भी पधारे और अपने बच्चों को भेज कर उनकी आने वाले भविष्य को उज्जवल बनाएं कार्यक्रम में आए हुए मात पिता ने भी अपना अनुभव साझा किया कि जब से हमारे बच्चे कैंप में आना शुरू किए हैं उनके जीवन में बहुत कुछ परिवर्तन दिखाई दे रहा है वह जब भी किसी से मिलते हैं नमस्ते करके अभिवादन करते हैं जल्दी सोते हैं जल्दी उठते हैं और बहुत ही खुश होकर हर कार्य में हमारा हाथ बताते हैं हम तो यही चाहते हैं हमारे बच्चे सदा खुश रहें और मुस्कुराते रहें कार्यक्रम के अंत में सभी को ब्रह्मा भोजन कराया गया l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *