सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
सब प्रदुषणों का मुख्य कारण है मानसिक प्रदूषण, उसे बदलेंगे तो बदलेगा सब कुछ - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
सब प्रदुषणों का मुख्य कारण है मानसिक प्रदूषण, उसे बदलेंगे तो बदलेगा सब कुछ

सब प्रदुषणों का मुख्य कारण है मानसिक प्रदूषण, उसे बदलेंगे तो बदलेगा सब कुछ

मध्य प्रदेश राज्य समाचार

नरसिंहपुर सेवाकेन्द्र पर पौधारोपण कार्यक्रम में व्यक्त विचार

शिव आमंत्रण, नरसिंहपुर। म.प्र. के नरसिंहपुर सेवाकेंद्र प्रभारी बीके कुसुम के निर्देशन में दिव्य संस्कार भवन, करेली, गाडरवारा, सालीचौका, आमगांव, साईंखेड़ा समेत कई स्थानों एवं सेवाकेंद्र से जुड़े लोगों के घरों में लोगों ने पौधे लगाकर प्रकृति को बचाने का पूर्ण रूपेण संकल्प लिया।
दिव्य संस्कार भवन नरसिंहपुर सेवाकेन्द्र पर कार्यक्रम का शुभारम्भ मनरेगा के जनरल मैनेजर आर सी पटेल, संदीप खरे एवं सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके कुसुम द्वारा किया गया। इसके साथ ही गाडरवारा सेवाकेन्द्र पर कदम संस्था से पधारे भाई बहनें एवं सेवाकेन्द्र के अन्य भाई बहनें उपस्थित थे।
इस अवसर पर ब्रह्माकुमारीज की जिला संचालिका बीके कुसुम ने कहा, कि आज जल प्रदूषण, वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण का मुख्य कारण मानसिक प्रदूषण है। मनुष्य की दूषित वृत्ति, दृष्टि एवं प्रवृत्ति का प्रभाव प्रकृति पर पड़ता है। आपने कहा, की प्रकृति माता हमें सब कुछ प्रदान कर रही है। वायु, जल, भोजन आदि प्रमुख आवश्यकतायें प्रकृति द्वारा ही पूरी होती हैं। अत: प्रकृति माँ की रक्षा करनी है। उन्होंने ईश्वरीय शक्तियों, राजयोग के प्रयोग एवं शुभ संकल्पों से प्रकृति के शुद्धिकरण की बात कही तथा कार्यक्रम में पधारे समस्त आगंतुकों से पर्यावरण संरक्षण हेतु शपथ दिलाई ।
कदम संस्था के प्रमुख अजय खत्री ने कहा, की ब्रह्माकुमारी संस्थान जो समाज को मार्गदर्शन दे रहा है वो सराहनीय है। हमारी पाश्चात्य जीवन शैली इसके लिए जिम्मेदार है। हमें अपने पूर्वजों द्वारा अपनाई जीवन शैली अपनायेंगे तभी हम प्रदूषण मुक्त वातावरण में रह सकेंगे। मनरेगा से पधारे जनरल मैनेजर आर. सी. पटले ने कहा, की वृक्षों की सुरक्षा के लिए हमारे धर्म में वृक्ष पूजा बताई गई है जिससे वृक्षों कि रक्षा की जा सके। उन्होंने इस पुनीत कार्य हेतु संस्था का आभार माना तथा प्रति वर्ष पर्यावरण दिवस पर एक पेड़ लगाने का संकल्प किया, हमें अपनी आवश्कताएं कम करनी चाहिए, गौ सेवा द्वारा प्रकृति माँ कि शुद्धिकरण करने मेें मदद करनी चाहिए।
कार्यक्रम में सैकडों की संख्या में गणमान्य नागरिक एवं संस्था के भाई – बहन उपस्थित रहे। अंत में सभी अतिथियों द्वारा वृक्षारोपण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *