सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
आध्यात्मिकता के द्वारा ही युवाओं को नई दिशा मिलेगी - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
आध्यात्मिकता के द्वारा ही युवाओं को नई दिशा मिलेगी

आध्यात्मिकता के द्वारा ही युवाओं को नई दिशा मिलेगी

बिहार राज्य समाचार

बिहार के पर्यावरण मंत्री नीरज कुमार द्वारा ओम शांति भवन का उद्घाटन

शिव आमंत्रण, सिमराही बाज़ार। बिहार के सिमराही बाजार में नवनिर्मित ओम शांति भवन का उद्घाटन बिहार सरकार के वन, पर्यावरण एवं जलवायु मंत्री नीरज कुमार सिंह और सब जोन प्रभारी जोगबनी बिहार की मुख्य संचालिका बीके किरण के द्वारा संपन्न हुआ। इस दौरान वन, पर्यावरण एवं जलवायु मंत्री नीरज कुमार सिंह ने कहा, कि वर्तमान समय में समाज के नर नारी एवं युवाओं को आध्यात्मिकता के द्वारा ही नई दिशा मिलेगी। इसके साथ ही उन्होंने बीके बहनों का आभार व्यक्त किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षा बीके किरण ने कहा, कि नवनिर्मित ओम शांति भवन में दी जानेवाली शिक्षाओं से मानव जीवन में कार्यकुशलता, व्यवसायिक दक्षता आएगी और बौद्धिक विकास के साथ साथ आपसी स्नेह, सत्यता, पवित्रता, अहिंसा और दया जैसे मानवीय मूल्यों का पाठ पढ़ाया जाएगा।
काठमांडू नेपाल से आए हुए बीके रामसिंह एन. ने इस विश्वविद्यालय का परिचय दिया। राजविराज क्षेत्र की मुख्य संचालिका बीके भगवती ने कहा, समाज में जब अनेक विकृतियां पैदा होती है तब स्वयं निराकार परमपिता परमात्मा का अवतरण इस धरा पर होता है। उन्होंने कहा, कि 1937 में सिंध हैदराबाद में ओम मंडली के रूप में एक छोटा सा पौधा परमात्मा ने लगाया था, आज वह प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के रूप में 150 देशों में एक वटवृक्ष के भांति सर्व मानव आत्माओं को सुख शांति की छाया दे रहा है।
सीमावर्ती क्षेत्र प्रभारी बीके रंजू ने बताया, कि परमात्मा शिव ज्ञान का कलश माताएं, बहनों को देकर फिर से संसार में फैले हुए काम, क्रोध, लोभ, मोह, अहंकार इत्यादि आसुरी संस्कारों को संहार कर इस सृष्टि में देव मानव बनाने का कार्य कर रहे हैं।
इस मौके पर स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी बीके बबीता, समाजसेवी परमेश्वरी सिंह, विश्व हिंदू परिषद सुपौल के पूर्व जिला अध्यक्ष अनिल कुमार महतो समेत कई विशिष्ट अतिथि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *