सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
तेजी से बढ़ रहा रिकवरी रेट, 20 दिनों में 5 सौ लोगों ने जीती करोना की जंग - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
तेजी से बढ़ रहा रिकवरी रेट, 20 दिनों में 5 सौ लोगों ने जीती करोना की जंग

तेजी से बढ़ रहा रिकवरी रेट, 20 दिनों में 5 सौ लोगों ने जीती करोना की जंग

मुख्य समाचार

ब्रह्माकुमारीज मानसरोवर कोविड केन्द्र 23 अप्रैल को हुआ था शुरू

शिव आमंत्रण,आबू रोड, 14 मई, निसं। ब्रह्माकुमारीज मानसरोवर करोना कोविड केन्द्र में तेजी से रिकवरी रेट बढ़ रही है। 23 अप्रैल को किवरली स्थित मानसरोवर में कोविड केन्द्र शुरू हुआ था। तब से लेकर आज तक लगभग छ सौ मरीज भर्ती हुए और जिसमें पांच सौ से ज्यादा लोगों ने करोना को मात देने में कामयाब रहे। वर्तमान समय में 60 क रोना से संक्रमित मरीज आक्सीजन पर है जबकि 6 मरीज सामान्य रूप से भर्ती हैं। मुख्य चिकित्सा प्रभारी डॉ एमएल हिण्डोनिया एवं डॉ सलीम खान की अगुवाई में 7 चिकित्सकों की टीम ने मोर्चा सम्भाल रखा है।
ब्रह्माकुमारीज मानसरोवर कोविड केन्द्र की नोडल प्रभारी सुमन सोनल के अनुसार डेढ़ सौ से ज्यादा कार्मिक वहॉं की व्यवस्था संभाल रहे है। मुख्य गेट से लेकर हेल्प डेस्क तक कार्मिक अलग अलग शिफ्ट में जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। माउण्ट आबू उपखण्ड अधिकारी अभिषेक सुराणा पूरे कोविड केन्द्र पर लगातार नजर बनाते हुए मानिटरिंग करते हैं। साथ आबू रोड तहसीलदार रामस्वरूप जौहर भी हमेश दौरा कर व्यवस्थाओं को सम्भाल रहे हैं। पैरामेडिकल स्टाफ की टीम आने वाले मरीजों को पूरा इलाज से लेकर सब चीजों को बारीकी से देख इलाज करने में कोई कोर कसर नहीं छोड रहे हैं।
सात्विक भोजन का भी असर: मानसरोवर कोविड सेन्टर में भर्ती करोना मरीजों के भोजन, नाश्ते तथा रात्रि भोजन की व्यवस्था ब्रह्माकुमारीज संस्थान कर रहा है। वहीं प्रात: काल काढ़े की भी व्यवस्था ब्रह्माकुमारीज संस्थान द्वारा उपलब्ध करवाया जाता है। खास बात तो यह है कि यह भोजन पूरी तरह से शाकाहारी है। यह भोजन खुद संस्थान के समर्पित सदस्य ध्यान और मेडिटेशन की प्रक्रिया के तहत बनाते है।
वरिष्ठ नर्सिंगकर्मी सुखबिर सिंह ने बताया कि हम लोगों का प्रयास रहता है कि जितने भी करोना संक्रमित लोग आये उनका उपचार के साथ सारी व्यवस्थायें दी जाये जिससे किसी भी तरह की समस्या ना आये। नगरपालिका के सफाई कर्मचारी स्वच्छता की पूरी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। ब्रह्माकुमारीज संस्थान के लोग सामूहिक रूप से ध्यान मेडिटेशन भी करते है ताकि कम से कम लोगों की जान जाये। फिर इतने दिनों में 70 लोगों की जान जा चुकी है। आक्सीजन की उपलब्धता भी लगातार काम किया जा रहा है ताकि कभी कमी ना आये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *