सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
म्यूजियम से लोगों को मिलेगी जीने की राह - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
म्यूजियम से लोगों को मिलेगी जीने की राह

म्यूजियम से लोगों को मिलेगी जीने की राह

मध्य प्रदेश राज्य समाचार
  • रिबन काटकर डॉ. बीके नलिनी दीदी ने किया शुभारंभ
  • तीन दिनी महोत्सव का समापन

शिव आमंत्रण,10 अक्टूबर, इंदौर। ब्रह्माकुमारीज संस्थान के जोनल मुख्यालय न्यू पलासिया, ॐ शांति भवन में नवनिर्मित आध्यात्मिक संग्रहालय का सोमवार को डॉ. बीके नलिनी दीदी ने उदघाटन किया। इसके साथ ही तीन दिवसीय दिव्य अलौकिक प्रभु समर्पण समारोह का समापन हो गया।
इस संग्रहालय में आत्म दर्शन, परमात्म दर्शन और जीवन दर्शन से लेकर भारत के स्वर्णिम इतिहास को सुंदर मूर्तियों, ग्राफिक्स और आर्ट के माध्यम से दर्शाया गया है। साथ ही सृष्टि चक्र, जीवन चक्र आदि बातों को गहराई पूर्ण रूप में समझाया गया है।
कार्यक्रम में बीके डॉ. नलिनी दीदी ने कहा कि इस म्यूज़ियम को बनाने में प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग करने वाले सभी भाई-बहनों को बधाई। म्यूजियम के माध्यम से हजारों आत्माओं को जीवन में आध्यात्मिक ज्ञान धारण करने की प्रेरणा मिलेगी। म्यूजियम के माध्यम से ज्ञान को जहां समझने में सुविधा होती है वहीं हम उसे आसानी से याद रख पाते हैं। मोटिवेशनल लेखक व मीडिया विंग के नेशनल कोऑर्डिनेटर राजयोगी ब्रह्माकुमार निकुंज ने भी अपनी शुभकामनाएं दी।
इंदौर जोन की निदेशिका बीके आरती दीदी ने कहा कि हमारे हाथ में कुछ नहीं होता है, जो होता है सब परमात्मा शिव बाबा की मर्जी से ही होता है। तमाम विपरीत परिस्थितियों के बाद भी आखिर वह पल आया कि आध्यात्मिक म्यूज़ियम का उदघाटन आज सम्पन हुआ। संचालन बीके आशा दीदी ने किया। इस मौके पर मुंबई से आयीं बीके शक्कू दीदी, बीके सुरेश भाई सहित बड़ी संख्या में भाई-बहन मौजूद रहे।

संग्रहालय में बताया गया है जीवन का सार-
इसकी सबसे बड़ी बात है कि संग्रहालय में पूरे जीवन का सार बहुत ही आसान तरीके से समझाया गया है। साथ ही तनावमुक्त जीवन, खुशहाल जीवन बनाने के लिए सजीव प्रदर्शनी बनाई गई है। कोई भी नागरिक सुबह 8 बजे से 1 बजे तक और शाम 5 बजे से रात 9 बजे तक इसका निःशुल्क अवलोकन कर आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं।

इस खास 12 चीजों को किया गया है शामिल-

  • आत्म दर्शन
  • परमात्म दर्शन
  • परमात्मा के दिव्य कर्तव्य
  • जीवन दर्शन
  • युग दर्शन
  • राजयोग दर्शन
  • स्वास्थ्य दर्शन
  • जीवन मूल्य दर्शन
  • मनुष्य सृष्टि रूपी कल्पवृक्ष
  • भारत के उत्थान और पतन की कहानी
  • सृष्टि चक्र
  • स्वर्णीम भारत

…………….……………..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *