सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
सौर उर्जा की नयी तकनीकी से बिजली उत्पादन में मिल सकती है मदद-जिला कलेक्टर - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
सौर उर्जा की नयी तकनीकी से बिजली उत्पादन में मिल सकती है मदद-जिला कलेक्टर

सौर उर्जा की नयी तकनीकी से बिजली उत्पादन में मिल सकती है मदद-जिला कलेक्टर

मुख्य समाचार

जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक तथा एसडीएम ने सोलार थर्मल पावर प्लांट का किया अवलोकन

शिव आमंत्रण,आबू रोड, 4 अप्रैल, निसं। सौर उर्जा के लिए आत्म निर्भरता जरूरी है। इसके लिए सूर्य की रोशनी का भरपूर इस्तेमाल करे तो उर्जा की समस्याओं से निजात पायी जा सकती है। सिरोही जिले के आबू रोड स्थित ब्रह्माकुमारीज संस्थान के सोलार थर्मल पावर प्लांट में नयी तकनीकी का इस्तेमाल किया गया है। यह अच्छा अभिनव प्रयोग है। उक्त विचार जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद ने सोलार प्लांट के अवलोकन के दौरान व्यक्त किये।
उन्होंने कहा कि यह अच्छा है कि इतना बड़ा प्रोजेक्ट सिरोही जिले में है। यहॉं की तकनीकी का पूरा प्रयोग अध्ययन करके किया जाये तो इससे काफी फायदा हो सकता है। यहॉं से 17 हजार यूनिट बिजली पैदा हो रही है यह सुखद है। वर्तमान समय उर्जा की चुनौतियों से निबटने के लिए सौर उर्जा का उपयोग जरूरी है। जिला कलेक्टर को सोलार थर्मल पावर प्लांट के सीईओ बीके जयसिम्हा ने सौर उर्जा की बारिकी से समझाया तथा उसकी कार्यप्रणाली के बारे में भी विचार विमर्श किया।  
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक हिम्मत अभिलाष टांक तथा माउण्ट आबू उपखंड अधिकारी डॉ गौरव सैनी ने सौर उर्जा के बारे में विस्तृत जानकारी ली। साथ ही सिरेाही जिले के साथ सूर्य की बहुतायत रोशनी वाले स्थानों पर इसके विस्तार के बारे में चर्चा की। कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारीज संस्था के कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय ने संस्था के गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। साथ ही जिला कलेक्टर द्वारा चलाया जा रहा पोषण वाटिका के भी बारे में विचार विमर्श कर उद्यान बनाने पर चर्चा हुई। माउण्ट आबू के रेवेन्यू इस्पेक्टर कुंज बिहारी झा, वनपाल राजेश विश्रोई, पीआरओ बीके कोमल, ओरिया पटवाारी रामाराव समेत कई लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *