सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
समाज को शिक्षित करने के कार्य में मीडिया जुटे - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
समाज को शिक्षित करने के कार्य में मीडिया जुटे

समाज को शिक्षित करने के कार्य में मीडिया जुटे

मध्य प्रदेश राज्य समाचार

इंदौर के ऑनलाइन प्रोग्राम मे व्यक्त विचार

शिव आमंत्रण, इंदौर। मीडिया ने स्वयं को व्यापार समझने के कारण चुनौतियां उत्पन्न हुई है। आज विश्व में समाज और परिवार संकट में है तब मीडिया की जिम्मेदारी बढ़ गई है। मीडिया को आज संस्कार निर्माण का, समाज को शिक्षित करने का कार्य करना है। बुराइयों को खत्म करने की भूमिका में मीडिया को आगे आना होगा। मीडिया के माध्यम से समाज को मूल्य निष्ठ बनाया जा सकता है। उक्त उद्गार महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय, वर्धा(महाराष्ट्र) के कुलपति डॉ. रजनीश शुक्ला ने राजयोग शिक्षा एवं अनुसंधान प्रतिष्ठान के मीडिया प्रभाग के पूर्व अध्यक्ष एवं इंदौर जोन के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक राजयोगी बीके ओमप्रकाश के पंाचवे पुण्य स्मरण दिवस पर आयोजित ऑनलाईन मीडिया वेबिनार (मीडिया संवाद) में मुख्य अतिथि के रुप में संबोधित करते हुए व्यक्त किए। मीडिया के क्षेत्र में योगदान के लिए ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के प्रयासों की उन्होने सराहना की।
भारतीय जन संचार संस्थान, नई दिल्ली के महानिदेशक संजय द्विवेदी ने कहा, कि ब्रह्माकुमारी संस्थान व्यक्ति और समाज निर्माण का अत्यन्त महत्वपूर्ण कार्य कर रही है। इस कार्य में और अधिक गति लाने की आवश्यकता है। क्योंकि समाज श्रेष्ठ होगा तो हर चीज श्रेष्ठ होगी। इस कार्य में आध्यात्मिक और शैक्षणिक संस्थाओं को बडी भूमिका निभानी होगी। उन्होंने ओमप्रकाश भाई जी को याद करते हुए कहा, कि उन्होंने मीडिया जगत को अध्यात्म के साथ जोडने का सराहनीय कार्य किया। हम उनके पदचिन्हों पर चलकर मानवीय मूल्यों को जीवन में अपना सकते हैं।
वेबीनार की अध्यक्षता करते हुए मीडिया प्रभाग के अध्यक्ष बीके करूणा भाई ने कहा, कि एक वायरस ने पूरे विश्व को जकड रखा है, ऐसे कठिन समय में मीडिया ने यह सन्देश देने की जरूरत है कि पूरा विश्व एक परिवार है, और हमें ऐसे समय में एक दूसरे का सहारा बनना जरूरी है।
माउंट आबू से प्रकाशित ज्ञानामृत के सम्पादक एवं मीडिया प्रभाग के उपाध्यक्ष बीके आत्मप्रकाश ने कहा, कि मीडिया समाज का मार्गदर्शक है। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा सकारात्मक विचारों को प्रसारित करने की आवश्यकता है।
मूल्यानुगत मीडिया के संपादक प्रो. कमल दीक्षित ने कहा कि सर्वकालिक मूल्य बिखरने से समाज टूट रहा है। मीडिया समाज की सेवा के लिए है, समाज को अपडेट करने के लिए है। अध्यात्म ही एकमात्र ऐसा उपाय है जो इन सब को बदल सकता है।
इंदौर जोन के मेडिकल विंग के क्षेत्रीय समन्वयक बीके उषा ने वेबिनार में मौजूद सभी सदस्यों को मेडिटेशन का अभ्यास कराया। वेबीनार का संचालन जन संचार विभाग के उत्तर महाराष्ट्र विश्व विद्यालय जलगाँव के डॉ. सोमनाथ बडनेरे ने कार्यक्रम का संचालन किया और आभार इंदौर की बीके अनीता ने माना। दुर्ग छत्तीसगढ़ के बीके युगरतन ने मीडिया में मूल्यों की संकल्पना के लिये सुंदर गीत प्रस्तुत किया। स्वागत बीके हेमलता ने किया। इस मौके पर इंदौर प्रेस क्लब के अध्यक्ष अरविन्द तिवारी ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.