सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
मोतीपुर (बिहार) के सेवा केंद्र पर वार्षिकोत्सव एवं मुकुट सम्मान समारोह का आयोजन - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
मोतीपुर (बिहार) के सेवा केंद्र पर वार्षिकोत्सव एवं मुकुट सम्मान समारोह  का आयोजन

मोतीपुर (बिहार) के सेवा केंद्र पर वार्षिकोत्सव एवं मुकुट सम्मान समारोह का आयोजन

बिहार राज्य समाचार

मोतीपुर 11 अक्टूबर 2020 बीके अशोक वर्मा। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय मोतीपुर सेवा केंद्र द्वारा सेवा केंद्र परिसर में 11वां  वार्षिकोत्सव एवं सम्मान समारोह का भव्य आयोजन किया गया ।कार्यक्रम का उद्घाटन अरेराज सेवा केंद्र की प्रभारी राजयोगिनी बी के मीना बहन,बीके मनोरमा बहन,बीके सीता,बीके फलक भाई,बीके अशोक वर्मा,बीके पुष्पा,बीके डा० अंजू वर्मा, बीके रेखा ने दीप प्रज्वलित कर किया ।अपने संबोधन में मुख्य वक्ता बीके मीना बहन ने कहा कि बेहद का ईश्वरीय परिवार मिला है।  मोतीपुर सेवाकेन्द्र पर आयोजित यह अनोखा सम्मान समारोह निश्चित हीं सभी ब्रह्मा बच्चों में नई ऊर्जा एवं शक्ति भरने का काम करेगा। भविष्य मे  जो सतयुगी ताजपोशी  मिलने जा रही है यह उसी का प्रतीक है।  आज जो यहां पर सभी का  ताजपोशी किया जा रहा है वह एक अनोखा आयोजन है। हमें अपने अतीत को भी याद करना है और वर्तमान के पुरुषार्थ को तेज करके  भविष्य का प्रालब्ध बनाना है।अब पुरूषोत्तम संगम युग का बहुत कम समय बचा हुआ है, इसका हमें भरपूर लाभ लेना है तथा संपूर्णता को प्राप्त करना है।मोतीपुर सेवा केंद्र प्रभारी बीके मनोरमा बहन ने सभी अतिथियों का स्वागत किया एवं सभी को बिंदी लगाया ,चूंदरी ओढाया ,माला पहनाया और उपहार देकर सभी अतिथियों का सम्मान और स्वागत किया ।उन्होंने कहा कि उडीसा यात्रा के दौरान मैंने देखा कि 10 साल से अधिक समय से ईश्वरीय ज्ञान में चलने वाले वहां सम्मानित किए गए।वहीं से मुझे ऐसा आयोजन करने की  प्रेरणा मिली  और आज यहां का आयोजन उसी तर्ज पर किया जा रहा है।  हमें बड़ी खुशी है कि यहां शिवहर, ढाका, अरेराज ,मुजफ्फरपुर ,बेतिया, मोतिहारी आदि जगहों से भाई बहन  उपस्थित हुए और इस कार्यक्रम में  दिल से भागीदारी दे रहे है। संपूर्ण कार्यक्रम के संचालन के दौरान बीके अशोक वर्मा ने कहा कि लाक डाउन के बाद यह ब्रह्माकुमारी द्वारा  उत्तर बिहार का भव्य आयोजन है और इस तरह के आयोजन से जितने भी ब्रह्मा वत्स हैं, सभी के पुरुषार्थ में काफी मदद मिलेगी। आज जो यहां ताजपोशी किया जा रहा है हमें इस ताजपोशी को सम्मान देना है ,इसका मान बढ़ाना है। यह नई जिममेवारी का ताज है ।बाबा का संदेश घर-घर पहुंचाना है, और शिव बाबा का नाम बाला करना है, क्योंकि भविष्य  सतयुग में हमें जो ताज  मिलेगी वह डबल होगी एक तो जिम्मेवारी का ताज और दुसरा पवित्रता का ताज होगा। अभी पुरुषोत्तम संगम युग पर शिव बाबा ज्ञान धन का अकूत भंडार लुटा रहे हैं यह हमारे ऊपर निर्भर करता है कि हम उनसे कितना ले लेवे ताकि हमारा पांच हजार वर्ष का भविष्य प्रालब्ध श्रेष्ठ बन सके। अमेरिका में दो वर्ष तक ईश्वरीय सेवा देने वाले ब्रह्मा कुमार ई०अरविंद भाई ने कहा कि विज्ञान आज जितना आगे बढ़ गया है तथा संचार व्यवस्था सुदृढ़ हुई है सब बाबा के बच्चों के पुरुषार्थ बढ़ाने के लिए ही है। जब संपूर्णता होगी उसके बाद तमाम साधन स्वत: ही समाप्त हो जाएंगे ।उन्होंने अपने अनुभव को सुनाते हुए कहा कि अमेरिका में मैंने देखा है कि वहां जो भी भाई-बहन ईश्वरीय ज्ञान में है,वे इतने सहज और सरल हैं जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती ।विदेश के बारे में जो हम लोगों का कंसेप्ट है वह वैसा नही है। दो तरह की दुनिया अभी चल रही है एक ईश्वरीय मार्ग वाले और एक आम दुनिया वाले। बाबा ने कहा है कि समय समाप्ति की ओर है।जल्द से जल्द बच्चो को संपूर्ण बनना है।  शिवहर से पधारे बीके सविता बहन ने अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कार्यक्रम की प्रशंसा की और कहा कि यह अनोखा कार्यक्रम है। संबोधित करने वालों में बीके फलक भाई ,बीके भास्कर भाई,बीके डॉक्टर अंजु वर्मा ,आदि थे। कार्यक्रम में एक भाई ने बड़ा ही सुंदर गीत प्रस्तुत किया और केसरिया की सृष्टि कुमारी ने  स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया ।कार्यक्रम में पधारे लगभग 90 वैसे भाई बहनों को भी सम्मानित किया गया जो लोग विगत 10 वर्षों से ईश्वरीय ज्ञान , योग,धारणा और सेवा में चल रहे हैं ।सम्मानित होनेवालो मे क ई युगल जोडी भी थे।सभी को बारी-बारी से मंच पर बुलाकर मनोरमा बहन एवं अन्य बहनो ने मुकुट पहनाया ,चुनरी ओढाया, बिंदी लगाया ,माला पहनाया तथा उन्हें उपहार भी दिया। कार्यक्रम के अंत में दृढ़ संकल्प के साथ केक काटा गया जिसमें मुख्य रुप से मुजफ्फरपुर से पधारे सभी भाई-बहन एवं बीके मीणा बहन, बीके मनोरमा ,बीके सीता बीके अशोक वर्मा आदि शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *