सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
जल्दी है तो भाई उडके जाओ, लेकिन हाथ-पाव टूटा तो…, बेहतर है सावधानी - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
जल्दी है तो भाई उडके जाओ, लेकिन हाथ-पाव टूटा तो…, बेहतर है सावधानी

जल्दी है तो भाई उडके जाओ, लेकिन हाथ-पाव टूटा तो…, बेहतर है सावधानी

मध्य प्रदेश राज्य समाचार

इंदौर यातायात प्रभाग वेबीनार में व्यक्त विचार

शिव आमंत्रण, इंदौर। आओ जलाए एक दीपक उनके नाम जिन्होंने सडक़ दुर्घटना में अपने प्राण गवाए है इस संकल्प के साथ दुर्घटनाओं में अपनी जान गंवाने वालों की स्मृति में पीडि़तों को मानसिक संबल देने के लिए संस्थान के यातायात एवं परिवहन प्रभाग और इंदौर के ओम शांति भवन द्वारा ऑनलाइन वेबिनार आयोजित किया गया जिसमें सुरक्षित जीवन के लिए यातायात नियमों की जानकारी दी गई। जिसमे मुख्य अतिथि इंदौर में ट्रैफिक डीएसपी संतोष उपाध्याय, रुकमनी मोटर्स के संचालक कैलाश वहेती, निसान ऑटोमोबाइल्स के डीलर रमेश आनंद और ट्रैफिक थाना टीआई दिलीप सिंघ परिहार थे।
डीएसपी संतोष उपाध्याय ने कहा, इंदोर मे 22 लाख वाहन है और सडकों की अपनी लिमिटेशन है। उसमे सुधार करने की कोई भी मानसिकता डेवलप नही हो रही है। लोग रांग साईड चलते मिलेंगे, कोई तीन सवारी बैठा हुआ है, किसी गाडी को चालान करो तो वह बोलेगा कि सर एक मिनिट के लिए खडी की थी। अरे भाई एक मिनट नही एक घंटा खडी करीए लेकिन कायदेसे खडी करीये। तो ये सब शिक्षा का अभाव है।
रुक्मनी मोटर्स के संचालक कैलाश वहेती ने कहा, अगर सिग्रल बंद होनेवाला है तो ड्रायवर गाडी जल्दी ले जाने की कोशीस करता है। बोलता है, चलो जल्दी चलेंगे। मै उसको बोलता हूं, ए रुक जा, सिग्रल फ्री है तब चलेंगे। अपने को सावधानी रखनी चाहिए और अपने साथ वाले ड्रायवर और मिलनेवाले लोगों को ट्राफिक सिग्रल, कायदे और सावधानी के बारे मे जाग्रत रखना चाहिए।
निसान ऑटोमोबाइल्स के डीलर रमेश आनंद ने कहा, कई बार हॉर्न बजाते है पिछेसे की हमको जल्दी है हमको जल्दी है। तो कई बार हमको ये भी बोलना पडता है कि भाई उड के चले जाओ। ये तो संभव नही है। ये जो यंग जनरेशन है, लडके-लडकियां है, हर काम में जल्दी करते है। आप हर रोज पेपर में पढ़ रहे है, बगर वजह के हड्डी टूट गई, हाथ टूट गया, पैर टूट गया। तो इसमे उपरवाले को याद करके चलेंगे तो जरूर पहुंचेंगे, ऐसा मै मानता हूं।
ट्रैफिक थाना टीआई दिलीप सिंघ परिहार ने कहा, कोरोना से अधिक खतरनाक है सडक पर हम कैसे सुरक्षित निकल जाए। हो सकता है महिनो आपको कोरोना नही हुआ लेकिन ट्राफिक नियमों का पालन नही करेंगे तो सडक दुर्घटना का शिकार हो जायेंगे।
प्रभाग की उपाध्यक्षा मुंबई से बीके दिव्यप्रभा ने कहा, चाहे पदयात्री हो या गाडी चलानेवाले हो वो दोनो अनुशासन मे रहे, स्व-परिवर्तन करे। आज की भागमभाग भरी जिंदगी में हम अधैर्य होते जा रहे हैं, अगर हमारे अंदर धैर्यता तथा शान्ति आ जाएगी तो हमारे जीवन में और हमारे कर्मों में निश्चित रूप से शान्ति आ सकती है, जिससे इस प्रकार की घटनाओं में अप्रत्याशित कमी आएगी।
कार्यक्रम में आगे स्कोडा ऑटो वोक्सवेगन प्राइवेट लिमिटेड के ग्रुप ट्रेनिंग अकादमी के अध्यक्ष मुकुल चौधरी एवं इंदौर में ब्रह्माकुमारिज की जोनल कोऑर्डिनेटर बीके हेमलता ने संबोधित किया।
इस वेबिनार का संचालन ओम शांति भवन से वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके अनीता द्वारा किया गया। अंत में सभी को यातायात के नियमों का पालन कराने की शपथ दिलाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *