सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
हम संकल्प लेते हैं भारत काे बनाएंगे व्यसनमुक्त उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले बच्चों को किया सम्मानित नई सामाजिक व्यवस्था के लिए सकारात्मक दृष्टि और नैतिक मूल्य जरूरी नींबू दौड़, बोरा दौड़ और लंबी कूद में बच्चों ने दिखाए करतब अपने काम को खुशी और आनंद के साथ करें: बीके शिवानी दीदी फिर से रामराज्य लाने में मीडिया की रहेगी महत्वपूर्ण भूमिका: मंत्री खराड़ी बच्चों ने स्केटिंग, नृत्य और रस्साकशी में दिखाई प्रतिभा
ब्रह्माकुमारीज़ मुख्यालय में आन-बान-शान से फहराया तिरंगा, परेड की ली सलामी - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
ब्रह्माकुमारीज़ मुख्यालय में आन-बान-शान से फहराया तिरंगा, परेड की ली सलामी

ब्रह्माकुमारीज़ मुख्यालय में आन-बान-शान से फहराया तिरंगा, परेड की ली सलामी

मुख्य समाचार

– मुख्य प्रशासिका दादी रतनमोहिनी, महासचिव राजयोगी बीके निर्वैर भाई सहित वरिष्ठ भाई-बहनों ने किया ध्वजारोहण
– देशभक्ति गीतों से गूंजा शांतिवन, देशभक्ति की सुंदर रंगोली बनाई

शिव आमंत्रण,आबू रोड।
 ब्रह्माकुमारीज़ मुख्यालय शांतिवन में 26 जनवरी को 75वां गणतंत्र दिवस समारोह धूमधाम और हर्षोल्लास से मनाया गया। आन-बान-शान से तिरंगा फहराया गया। डायमंड हॉल के पीछे बनी स्टेज पर मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी और महासचिव राजयोगी बीके निर्वैर भाई सहित अन्य वरिष्ठ भाई-बहनों ने तिरंगा फहराकर परेड की सलामी ली। इस दौरान कर्नल सती के नेतृत्व में परेड की गई।
कार्यक्रम में मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने सभी को 75वें गणतंत्र दिवस की बधाई देते हुए कहा कि हमारा संविधान विश्व का सबसे वृहद संविधान है। हमारे देश में सभी धर्म, संप्रदाय के लोगों को बिना किसी भेदभाव के स्वतंत्रता के साथ जीने का अधिकार है। अनेकता में एकता ही हमारी पहचान है। इतनी भाषाएं, संस्कृति, धर्म होते हुए भी हम भारतवासी एक हैं, क्योंकि हमारी संस्कृति वसुधैव कुटुम्बकम की संस्कृति है। भारत ही वह महान देश है जहां नदियों को भी देवी के समान दर्जा दिया है। भारत को माता कहते हैं। आज सभी संकल्प लें कि जैसे हम अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहते हैं, वैसे ही देश के प्रति अपने कर्तव्यों का भी निर्वहन करेंगे। देश की संपत्ति की रक्षा करेंगे। संविधान को सर्वोपरि रखते हुए सदा देशहित, राष्ट्रहित में कार्य करेंगे।

झंडावंदन करते हुए राजयोगिनी रतनमोहिनी दीदी व अन्य बीके वरिष्ठ भाई-बहनें।

हम नित नए कीर्तिमान लिख रहे हैं-
महासचिव राजयोगी बीके निर्वैर भाई ने कहा कि हम गणतंत्र के 75 साल पूरे कर चुके हैं और अब 76वें वर्ष में प्रवेश कर रहे हैं। यह अमृतकाल का समय है। यह समय इतिहास लिखने और देश को नई ऊंचाई पर ले जाने का समय है। हम धरती से लेकर आसमान में नित नए कीर्तिमान लिख रहे हैं। भारत ने चंद्रयान-3 की सफल और सुरक्षित साफ्ट लैंडिग कर नए युग का आगाज किया है। हम जैसे भौतिक रूप से आगे बढ़ रहे हैं, उसी तरह आध्यात्मिक रूप से भी भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। हमारी आध्यात्मिक विरासत और योग का दुनिया लोहा मानने लगी है। योग के प्रति लोगों का रुझान बढ़ रहा है। योग का महत्व समझने लगे हैं। वह दिन भी जल्द आएगा कि हम विश्व गुरु की पदवी पर होंगे।

परेड की सलामी देते गार्ड।

ये भी रहे मौजूद-
इस मौके पर वैज्ञानिक एवं अभियंता प्रभाग के अध्यक्ष बीके मोहन सिंघल, मीडिया प्रभाग के उपाध्यक्ष बीके आत्म प्रकाश, नेपाल जोन की निदेशिका राजयोगिनी बीके राज दीदी, वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके गीता दीदी, डॉ. सतीश गुप्ता सहित उड़ीसा, बिहार से आए चार हजार से अधिक लोग मौजूद रहे। ध्वजारोहण के बाद शांतिवन सहित सभी कैंपस के गार्ड ने मार्च पास्ट कर परेड की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *