सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
परमात्मा की छत्रछाया में रहें तोे सदा हल्के रहेंगे: बीके बृजमोहन भाई ईशु दादी का जीवन समर्पण भाव और ईमानदारी की मिसाल था ब्रह्माकुमारीज़ जैसा समर्पण भाव दुनिया में आ जाए तो स्वर्ग बन जाए: मुख्यमंत्री दिव्यांग बच्चों को सिखाई राजयोग मेडिटेशन की विधि आप सभी परमात्मा के घर में सेवा साथी हैं थॉट लैब से कर रहे सकारात्मक संकल्पों का सृजन नकारात्मक विचारों से मन की सुरक्षा करना बहुत जरूरी: बीके सुदेश दीदी
परमात्मा की छत्रछाया में रहें तोे सदा हल्के रहेंगे: बीके बृजमोहन भाई - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
परमात्मा की छत्रछाया में रहें तोे सदा हल्के रहेंगे: बीके बृजमोहन भाई

परमात्मा की छत्रछाया में रहें तोे सदा हल्के रहेंगे: बीके बृजमोहन भाई

मुख्य समाचार
  • सात दिवसीय डायबिटीज रिवर्सल रिट्रीट का शुभारंभ
  • देशभर से पहुंचे लोग, डाइट के आधार से डायबिटीज कंट्रोल करना सिखाया जाएगा

शिव आमंत्रण,आबू रोड। ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान के मनमोहिनीवन स्थित ग्लोबल ऑडिटोरियम में सात दिवसीय डायबिटीज रिवर्सल रिट्रीट का शुभारंभ किया गया। इसमें देशभर से प्री डायबिटीज के मरीज और डायबिटीज मरीज भाग ले रहे हैं। रिट्रीट में एक्सपर्ट डॉक्टर्स द्वारा राजयोग मेडिटेशन, संतुलित भोजन और एक्सरसाइज के द्वारा डायबिटीज रिवर्स करने और कंट्रोल में रखने की ट्रेनिंग दी जाएगी।
शुभारंभ पर संस्थान के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन भाई ने कहा कि आज बदलती जीवनशैली में खुद को स्वस्थ रखना अपने आप में एक चुनौती है। सबसे ज्यादा बीमारियां मानसिक दबाव के चलते हो रही हैं। हम अपने शारीरिक स्वास्थ्य का तो ध्यान रखते हैं लेकिन मानसिक स्वास्थ्य को नजर अंदाज कर देते हैं। जब दोनों स्वास्थ्य होंगे तभी हम संपूर्ण स्वस्थ रह सकते हैं। परमात्मा की छत्रछाया में रहें तोे सदा हल्के रहेंगे और बीमारियों से बचे रहेंगे।
मेडिकल विंग के सचिव डॉ. बनारसी लाल ने कहा कि मेडिकल विंग का उद्देश्य है कि लोगों का जीवन निरोगी हो। सब सुखी रहें, स्वस्थ रहें, तंदुरुस्त रहें। इसी उद्देश्य को लेकर अनेक अभियान चलाए जा रहे हैं। डायबिटीज रिवर्सल रिट्रीट से शिविरार्थियों को बहुत लाभ मिलेगा। सातों दिन पूरी तन्मयता के साथ शिविर में भाग लें और निरोगी जीवन के सूत्र सीखें।

डायबिटीज रिवर्सल रिट्रीट का शुभारंभ करते अतिथि।

परमात्मा को सौंप दें जिम्मेदारी-
महिला प्रभाग की राष्ट्रीय संयोजिका बीके डॉ. सविता दीदी ने कहा कि सुप्रीम सर्जन परमपिता शिव परमात्मा हमें राजयोग मेडिटेशन की शिक्षा संपूर्ण निरोगी भव की कला सिखाते हैं। आज ज्यादातर बीमारियों का कारण मानसिक दबाव ही है। अपनी सारी जिम्मेदारी को परमात्मा पर सौंप कर सदा हल्के रहें। खुश रहें और जीवन का आनंद लें तो बहुत सी बीमारियों से बचे रहेंगे।

रिट्रीट में मौजूद भाई-बहनें।

सभी टिप्स का पालन करें-
कैड प्रोग्राम के डायरेक्टर डॉ. सतीश गुप्ता ने कहा कि रिट्रीट में इन सात दिनों में आप सभी को जो टिप्स बताए जाएंगे उनका पालन करने से ही आप सभी अपनी प्री डायबिटीज को रिवर्स कर सकते हैं। इसमें राजयोग ध्यान, व्यायाम और संतुलित भोजन का अहम योगदान है। कैड प्रोग्राम की एसोसिएट को-ऑर्डिनेटर बीके बाला बहन ने कहा कि विश्वभर में तेजी से डायबिटीज के मरीज बढ़ते जा रहे हैं। इसके लिए हमें सावधान होने की जरूरत है। सबसे ज्यादा मरीज भारत में तेजी से बढ़ रहे हैं। यदि संतुलित दिनचर्या का पालन किया जाए तो हम इस बीमारी से दूर रह सकते हैं। संचालन बीके युगरतन भाई ने किया। स्वागत गीत मधुर वाणी ग्रुप के बीके सतीश व साथियों ने पेश किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *