सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
राजयोग में समाज सुधारने की भी है ताकद - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
राजयोग में समाज सुधारने की भी है ताकद

राजयोग में समाज सुधारने की भी है ताकद

छत्तीसगढ़ राज्य समाचार

कोरबा के योग दिवस कार्यक्रम में व्यक्त विचार

शिव आमंत्रण, कोरबा। कोरबा के तुलसी नगर स्थित आध्यात्मिक उर्जा पार्क में ब्रह्माकुमारीज द्वारा योग दिवस के तहत कार्यक्रम किया गया, जिसमें विशिष्ट अतिथि महापौर राजकिशोर प्रसाद, एडवोकेट ओमप्रकाश साहू ने अपने वक्तव्य में बताया, कि राजयोग केवल मन ही नहीं लेकिन तन वा समाज के लिए अच्छा साधन है, व्यक्ति स्वस्थ होगा तभी समाज व देश स्वस्थ बनेगा।
महापौर राजकिशोर प्रसाद ने कहा, कि आज का मानव व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा में भौतिक सुखो व इन्द्रिय रसों को अपना आधार मानकर अपने मानवीय लक्ष्यों को साधने में लगा हुआ है। ऐसे समय मे योग वो साधन है जो तन-मन को एकाग्र कर के चहुमूखी विकास के लिए अत्यंत लाभदायक है।

एडवोकेट ओमप्रकाश साहू ने कहा, कि योग जो है वो मन ही नही अपितु तन वा समाज के लिए एक अच्छा साधन है। समाज को स्वस्थ करने के लिए व्यक्ति का स्वस्थ होना बहुत आवश्यक है तभी अच्छे देश की परिकल्पना की जा सकती है। बी.के. बिन्दू ने कहा, फिजिकल एक्सरसाइज हमारे तन को दुरूस्त रखता है और मेन्टल एक्सरसाइज अर्थात मेडिटेशन हमारे मन को दुरूस्त रखती है।
इस अवसर पर मुख्यालय से आए बीके भानू ने कहा, कि ये हमारे लिए बहुत गौरव की बात है। चाहे योग के रूप में हो, चाहे संस्कृति के रूप में, चाहे अध्यात्मिक रूप में, पूरे विश्व को चलाने वाला वो अपना भारत देश ही है।
बीके रूक्मणी ने कहा, कि आज तो दुनिया मे शारीरिक योग तो बहुत करते है परंतु साथ-साथ मानसिक योग भी करते है तो मन स्वस्थ होगा। आत्मा मे ही हमारा मन है। अगर मन स्वस्थ होगा तो तन कितना भी रोगी हो वह स्वस्थ हो जाएगा। बीके स्मृति ने योगा कराया व सभी लोग लाभान्वित हुए।

मन शक्तिशाली होगा परमात्म याद से
दूसरा कार्यक्रम जिला सेनानी कार्यालय में आयोजित किया गया, जहां योगाचार्य बीके स्मृति बुधिया ने समस्त सेनानियों को योग और योगा के बारे में विस्तृत जानकारी दी एवं उसका अभ्यास भी करवाया। इस मौके पर बीके उषा ने कहा, कि हमे पहले अपने आप को जानना होगा कि हम कौन है क्योंकि तन शक्तिशाली होने से कुछ नही होगा जब तक मन शक्तिशाली न हो और मन तभी शक्तिशाली होगा जब हम मन को परमात्मा में लगाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.