सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
ब्रह्माकुमारीज संस्थान का प्रेम निवास बना आईसोलेसन केन्द्र - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
ब्रह्माकुमारीज संस्थान का प्रेम निवास बना आईसोलेसन केन्द्र

ब्रह्माकुमारीज संस्थान का प्रेम निवास बना आईसोलेसन केन्द्र

मुख्य समाचार

50 शैय्या युक्त भवन में भोजन की भी व्यवस्था करेगा संस्थान

शिव आमंत्रण,आबू रोड, 11 अप्रैल, निसं। जिले में तेजी से करोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। जिले के सबसे बड़ी तहसील आबू रोड में भी मरीजों के आने का सिलसिला प्रारम्भ हो गया है। मरीजों के उचित उपचार एवं आईसोलेसन के लिए ब्रह्माकुमारीज संस्थान ने इन्द्रिरा कालोनी में 50 बेड वाले प्रेम निवास को आईसोलसन के लिए प्रशासन को दिया है। इस आईसोलेसन केन्द्र में आने वाले मरीजों के भोजन की भी व्यवस्था ब्रह्माकुमारीज संस्थान ही करेगा।
जानकारी के मुताबिक प्रेम निवास में अब आबू रोड में भी कोरोना पाजिटिव मरीजों के इलाज के लिए दस दिन पूर्व ही दे दिया था। अब इसमें चिकित्सा प्रभारी डॉ सलीम खान के साथ 26 लोगों की नर्स और चिकित्सकों की टीम लगायी गयी है। जो 24 घंटे करोना मरीजों की इलाज में तत्पर रहेगी। प्रेम निवास में लगाये गये नर्स और चिकित्सकों के कोआर्डिनेशन का जिम्मा सुखबीर सम्भाल रहे है। उम्मीद है कि आने वाले करोना से प्रभावित लोग जल्दी ही ठीक होकर अपने-अपने घरों को जायेंगे।
गौरतलब है कि पिछले वर्ष भी जब करोना बढऩा शुरू हुआ था तब ब्रह्माकुमारीज संस्थान ने आठ सौ बेड का मानसरोवर आईसालेसन केन्द्र दिया था। जिसमें पूरे वर्ष भर ढाई हजार से ज्यादा करोना मरीजों को नयी जिन्दगी मिली। परन्तु जनवरी में केस कम आने के कारण ब्रह्माकुमारीज संस्थान का मानसरोवर आईसोलेसन को करोना मुक्त कर दिया गया। परन्तु अब करोना मरीज बढऩे पर पुन: संस्थान यह आईसोलेसन केन्द्र उपलब्ध कराया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.