सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
नकारात्मक विचारों से मन की सुरक्षा करना बहुत जरूरी: बीके सुदेश दीदी यहां हृदय रोगियों को कहा जाता है दिलवाले आध्यात्मिक सशक्तिकरण द्वारा स्वच्छ और स्वस्थ समाज थीम पर होंगे आयोजन ब्रह्माकुमारीज संस्था के अंतराष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू दादी को डॉ अब्दुल कलाम वल्र्ड पीस तथा महाकरूणा अवार्ड का अवार्ड एक-दूसरे को लगाएं प्रेम, खुशी, शांति और आनंद का रंग: राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी इस विद्यालय की स्थापना से लेकर आज तक की साक्षी रही हूं: दादी रतनमोहिनी
अनावश्यक बातों के कचरे से मुक्त रहो तो भागेगा तनाव भी - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
अनावश्यक बातों के कचरे से मुक्त रहो तो भागेगा तनाव भी

अनावश्यक बातों के कचरे से मुक्त रहो तो भागेगा तनाव भी

दिल्ली राज्य समाचार

विमान पत्तन प्राधिकरण की कार्यशाला मे व्यक्त विचार

शिव आमंत्रण, दिल्ली। नई दिल्ली के लोधी रोड सेवाकेंद्र द्वारा एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय मुख्यालय में तनाव मुक्त जीवन शैली विषय पर आयोजित ई संगोष्ठी में देशभर के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भाग लिया। इस मौके पर अन्तर्राष्ट्रीय प्रेरक वक्ता बीके पीयूष, कर्नाटक के बेलगांव से न्यायविद् प्रभाग की संयोजिका बीके विद्या और लोधी रोड सेवाकेंद्र प्रभारी बीके गिरिजा ने विषय पर सुंदर व्याख्यान दिया।
अपने वक्तव्य में ब्रह्माकुमारीज की वरिष्ठ फैकल्टी बीके पीयुष ने बताया, कि हम एक बार में केवल एक ही कार्य करे। कई बार हम अनेक अनावश्यक बातों को लेकर बैठे रहते है जिससे मन भारी हो जाता है और अंतत: वही तनाव का कारण बन जाता है।
बेलगाम-कर्नाटक से न्यायविद् प्रभाग की राष्ट्रीय संयोजिका बीके विद्या ने कहा, कई बार हम अपने मन में भ्रांतियां लेकर बैठे रहते है। कई लोगों के बारे में पूर्वग्रह से ग्रसित हो जाते है। तनाव मुक्त जीवन जीने के लिए हमे प्रत्येक व्यक्ति के विषय में गुणग्राही बनना है। हर एक व्यक्ति में दोष के साथ बहुत सारे गुण भी रहते है। गुण देखने की दृष्टि रखे।
नई दिल्ली के लोधी रोड सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके गिरिजा ने कहा, कि आज मै जो भी हूँ उसका कारण मै ही हूंं। इसलिए कहने मे आता है कि मनुष्य अपने भाग्य का स्वयं ही निर्माता है। राजयोग आज हमारे जीवन की जरूरत है, इसके अनेक लाभ है। इसके उपरांत उन्होने प्रतिभागियोंको गहन योगानुभूति कराई गई।
कार्यक्रम की समाप्ति प्रश्नोत्तर के साथ हुई। प्रतिभागियों ने अपने अनभुव भी साझा किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *