सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
आपसी भाईचारा की कमी के कारण होते हैं झगड़े - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
आपसी भाईचारा की कमी के कारण होते हैं झगड़े

आपसी भाईचारा की कमी के कारण होते हैं झगड़े

सम्पादकीय

बस एक ही बात समझ में आती है कि आपसी प्यार
और सौहाद्र्र कम होने के कारण ही हो रहा है…..

आज पूरा विश्व इस बात से भयभीत है कि न जाने कब क्या हो जायेगा। देश के ताकतवर मुल्क दुनिया को पल भर में समाप्त कर देने वाले विनाशक हथियारों से एक दूसरे को समाप्त कर देने की धमकी दे रहे है। यदि सचमुच ऐसे हो गया तो पूरी मानवता के अस्तित्व पर ही खतरा आ जायेगा। आखिर जंग की वजह क्या है। बस यही की एक दूसरे से सुरक्षा। आखिर जब हम इंसान है तो एक आखिर यह युद्ध क्यों। हम एक दूसरे के खून के प्यासे क्यों हो गये हैं। जब हम निचोड़ पर पहुंचते है तो बस एक ही बात समझ में आती है कि आपसी प्यार और सौहाद्र्र कम होने के कारण ही हो रहा है। यदि हम थोड़े से अहंकार रूपी रावण को अपने उपर हावी ना होने दे तो इस तरह की विनाशकारी स्थितियों से बचा जा सकता है। क्योंकि मानव का जान
लेकर अपने संम्प्रभुता की रक्षा करने का कोई मतलब नहीं है। परमात्माके हम साी बच्चे है। यहॉं भले ही अलग अलग देश, जाति, धर्म मजहब की दिवारें बनी हो लेकिन सबका मालिक तो परमात्मा ही है। यह भाव जैसे ही हमारे अन्दर उत्पन्न हो जायें तो फिर इस तरह का भाव ही नहीं होगा। इसलिए वर्तमान समय में सबकुछ प्राप्त हो रहा है परन्तु छूट जोरहा वह है आपसी प्यार और एकता सदभावना। इसलिए परमात्मा का यह संदेश है कि मूल्यों को जीवन में अपनाने का प्रयास करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *