सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
‘कल्पतरुह’ महाअभियान पर्यावरण संरक्षण की दिशा में ब्रह्माकुमारीज़ की अभिनव पहल - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
‘कल्पतरुह’ महाअभियान पर्यावरण संरक्षण की दिशा में ब्रह्माकुमारीज़ की अभिनव पहल

‘कल्पतरुह’ महाअभियान पर्यावरण संरक्षण की दिशा में ब्रह्माकुमारीज़ की अभिनव पहल

आगामी कार्यक्रम
  • 75 दिन में 40 लाख पौधे रोपने का लक्ष्य
  • ब्रह्माकुमारीज़ की ओर से देशभर में चलाया जाएगा पौधारोपण अभियान

शिव आमंत्रण, आबू रोड। प्रकृति के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। जन्म से लेकर मृत्यु तक मां प्रकृति हमें देतीं हैं। क्योंकि उनका काम है देना और सिर्फ देना। ऐसे में हमारा भी फर्ज बनता है कि हम भी प्रकृति के संरक्षण के लिए अपना हाथ बढ़ाएं…चलो आज एक पौधा लगाएं। पर्यावरण संरक्षण की दिशा में एक कदम और बढ़ाते हुए ब्रह्माकुमारीज़ ने अभिनव पहल की। ‘कल्पतरुह’ पौधारोपण महाअभियान के माध्यम से देशभर में 40 लाख पौधारोपण करने का महान लक्ष्य रखा है। इस अभिनव पहल की शुरुआत पर्यावरण दिवस के 5 जून को 50 साल पूरे होने पर की जाएगी। अभियान में ब्रह्माकुमारीज़ से जुड़े भाई-बहनें सहभागी बनेंगे और सभी 75 दिन तक एक-एक पौधा रोज लगाएंगे। आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर अभियान के तहत कल्पतरुह अभियान चलाया जाएगा।

राजयोगिनी बीके जयंती
अतिरिक्त मुख्य प्रशासिका और
कल्पतरुह अभियान के निदेशिका,
ब्र.कु. आबू

प्रर्यावरण बचाने की जिम्मेदारी सबकी है

ज समय के जरूरत है कि हम सभी मिलकर पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य करें। पर्यावरण बचाने की जिम्मेदारी प्रत्येक व्यक्ति की है। सभी को आगे आकर पौधारोपण कर उसे बड़े होने तक उसकी देखभाल करने की जिम्मेदारी भी लेना होगी। प्रकृति को बचाने के लिए ही कल्पतरुह अभियान शुरू किया गया है। इसके तहत 40 लाख पौधे देशभर में लगाए जाएंगे।

अधिक से अधिक पौधा रोपण करें…

बीके शांतनु
समन्वयक, कल्पतरुह अभियान,
शांतिवन, आबू रोड

प्रकृति को बचाने के उद्देश्य से यह अभियान शुरू किया गया है। जितना हो सके सभी ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण करें, ताकि पर्यावरण को संजीवनीमिल सके। अभियान के तहत रोपे गए एक-एक पौधे की मॉनिटरिंग एप के माध्यम से की जाएगी।

प्रत्येक पौधे का 75 दिन तक रखेंगे ख्याल…

कल्पतरुह अभियान के तहत रोपे गए पौधे को संबंधित भाई-बहन 75 दिन तक रोज उसका ख्याल रखेंगे। उसे पानी-खाद आदि देंगे और संभाल करेंगे। अभियान के तहत लगाए गए प्रत्येक पौधे का पूरा रिकार्ड रखा जाएगा। इसकी मॉनिटरिंग एप के माध्यम से की जाएगी। पौधारोपण करने के बाद एप पर उसकी फोटो अपलोड की जाएगी। 5 जून से शुरू होकर अभियान का समापन 25 अगस्त को संस्थान की पूर्व मुख्य प्रशासिका दादी प्रकाशमणि के स्मृति दिवस पर समापन होगा।

देशभर के सेवाकेंद्रों पर चलाया जाएगा अभियान…

कल्पतरुह अभियान ब्रह्माकुमारीज़ के देशभर में स्थित पांच हजार सेवाकेंद्र, 50 हजार गीतापाठशाला, रिट्रीट सेंटर, मेडिटेशन सेंटर और सेवाकेंद्रों पर चलाया जाएगा। इसमें संस्थान से जुड़ीं समर्पित रूप से सेवाएं दे रहीं ब्रह्माकुमारी बहनों के साथ यहां से जुड़े सदस्यगण भी भाग लेंगे। अभियान के तहत ब्रह्माकुमारीज़ के परिसर, स्कूल, कॉलेज, सरकारी कार्यालय, नगर निगम, नगर परिषद, सामूहिक पार्क आदि स्थानों पर पौधारोपण किया जाएगा।

पंपलेट्स और ब्रोसर पर लगाए बीज…

अभियान के तहत बनाए गए कागज के कंपलेट्स और ब्रोसर के साथ उसमें विभिन्न फलों और वृक्षों के बीज लगाए गए हैं ताकि इन कागजों को हम जब फाड़कर कहीं भी डाले तो उसमें से बीज अंकुरित होकर पौधा का रूप ले ले। इसे ध्यान में रखते हुए इन पंपलेट्स को तैयार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खबरें और भी

 आगामी कार्यक्रम

आगामी कार्यक्रम

आगामी कार्यक्रम 12 July 2021
 आगामी कार्यक्रम

आगामी कार्यक्रम

आगामी कार्यक्रम 10 July 2021
 आगामी कार्यक्रम

आगामी कार्यक्रम

आगामी कार्यक्रम 22 May 2021