सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
री-इंजीनियरिंग ह्यूमन लाइफ विषय पर ऑनलाइन सेमिनार - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
री-इंजीनियरिंग ह्यूमन लाइफ विषय पर ऑनलाइन सेमिनार

री-इंजीनियरिंग ह्यूमन लाइफ विषय पर ऑनलाइन सेमिनार

राज्य समाचार हरियाणा

अंबाला कैंट : व्यक्ति वस्तु और संसाधनों का निर्माण और पुन: निर्माण  के साथ-साथ आज आवश्यकता है मनुष्य जीवन के पुन: निर्माण की, उसके लिए नैतिक मूल्य और आध्यात्मिकता को जीवन में अपनाना अति आवश्यक है….. उक्त विचार ब्रह्माकुमारीज के अंतरराष्ट्रीय प्रेरक वक्ता *बी के भारत भूषण जी* (राष्ट्रीय संयोजक साइंटिस्ट इंजीनियरिंग विंग) ने मुख्य वक्ता के रूप में व्यक्त किए। ब्रह्माकुमारीज के अंबाला सेवा केंद्र एवं राजयोग एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन के साइंस और इंजीनियरिंग प्रभाग के द्वारा आयोजित *री-इंजीनियरिंग ह्यूमन लाइफ*  विषय पर ऑनलाइन सेमिनार में मुख्य वक्ता के रूप में संबोधन कर रहे थे। उन्होंने अपने वक्तव्य में री- इंजीनियरिंग के कुछ टिप्स बताए, जिसमें इंजीनियर शब्द में छिपे सभी मूल्य – उमंग उत्साह ,नवीनता ,सदव्यवहार ,आदर जैसे गुणों को इस शुभ दिवस के उपलक्ष्य में दृढ़ संकल्प कर धारण करने के लिए सभी श्रोतागण को आह्वान किया।
इस अवसर पर *भ्राता मनमोहन मैनी जी* (डिप्टी जनरल मैनेजर ,हरियाणा टेलीकॉम सर्किल )ने कहा जैसे बाज पक्षी या मानव की रचना मोबाइल समय अनुसार अपडेट होते हैं ।अब मानव चेतना मन को भी पुरानी -पराई बातों से डिलीट कर सद्गुणों से अपडेट करना है। अतः आध्यात्मिक ज्ञान के माहौल से ही यह कार्य संपन्न हो सकेगा।

इस वेबिनार में उपस्थित चेयरमैन ,ओसा उद्योग अंबाला कैंट के *आकाश जैन जी* ने अपने अनुभव के आधार पर कहा कि इंजीनियर एक इंजन के समान तथा शक्तिशाली बना रहे, जो पूरी टीम रूपी बोगी को खींचने की क्षमता रखें। अगर सफलता की ऊंचाइयों को छूना है तो टीम के हर वर्ग, हर व्यक्ति को अपनी जिम्मेवारी समझ बखूबी निभाना होगा।

ब्रह्माकुमारी अंबाला कैंट की निर्देशिका *ब्रह्माकुमारी कृष्णा दीदी जी* ने इस दिवस की सभी इंजीनियर भाई बहनों को बधाई देते हुए कहा कि समय को इंतजार है मूल्यों के नव निर्माण की। अतः टेक्नालॉजी के डेवलपमेंट के साथ-साथ मूल्यों का भी जीवन में पुनः नव निर्माण अवश्य करें।

राजयोग शिक्षिका ,चंडीगढ़ *ब्रह्माकुमारी नेहा बहन जी* ने वर्तमान परिस्थिति को उजागर करते हुए बताया- जो हम चाहते हैं वह नहीं कर पाते ,जो नहीं करना चाहते वह कर लेते ऐसी उलझन से ,मन तथा कर्मेंद्रियों पर नियंत्रण पाने के लिए अर्थात री-इंजीनियरिंग करने के लिए राजयोग मेडिटेशन एक अचूक उपाय है अत: हर इंजीनियर अपनी व्यस्त दिनचर्या में राजयोग को अहम स्थान दे।साथ ही राजयोग की अद्भुत अनुभूति कराई।

*ब्रह्माकुमारी शैली बहन जी* ने पूरे कार्यक्रम का सुचारू रूप से संचालन किया। इस यूट्यूब ऑनलाइन वेबीनार का अनेकों इंजीनियर भाई बहनों ने लाभ लिया। तथा ऐसे लाभदायक कार्यक्रम की भविष्य में भी प्रसारित करने की अपेक्षा जतायी।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *