सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
आज सबसे ज्यादा मन की इम्युनिटी बढ़ाने की जरूरत: बीके सुषमा दीदी - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
आज सबसे ज्यादा मन की इम्युनिटी बढ़ाने की जरूरत: बीके सुषमा दीदी

आज सबसे ज्यादा मन की इम्युनिटी बढ़ाने की जरूरत: बीके सुषमा दीदी

मुख्य समाचार
  • ब्रह्माकुमारीज संस्थान के मनमोहिनीवन, ग्लोबल ऑडिटोरियम में पत्रकारों का स्नेह मिलन आयोजित
  • जयपुर से पधारीं जोनल निदेशिका ब्रह्माकुमारी सुषमा दीदी ने पत्रकारों को बताए माइंड मैनेजमेंट के टिप्स
  • कार्यक्रम में आबू रोड के पत्रकार सहपरिवार पधारे, सहभोज में लिया भाग

शिव आमंत्रण,1 फरवरी, आबू रोड (निप्र)। ब्रह्माकुमारीज संस्थान के मनमोहिनीवन स्थित ग्लोबल ऑडिटोरियम में पत्रकारों का स्नेह मिलन आयोजित किया गया। इसमें आबू रोड के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और वेब मीडिया से जुड़े पत्रकारों ने शिरकत की। समापन पर स्नेहभोज आयोजित किया गया।
कार्यक्रम में जयपुर से पधारीं जोनल निदेशिका ब्रह्माकुमारी सुषमा दीदी ने पत्रकारों को माइंड मैनेजमेंट के टिप्स बताते हुएकहा कि पत्रकारों के पास तमाम तरह की नकारात्मक और सकारात्मक सूचनाओं का भंडार होता है। ऐसे में अपने माइंड को कूल, सकारात्मक और शांत रखना बड़ा चुनौतीपूर्ण होता है। लेकिन राजयोग मेडिटेशन के अभ्यास से हम कड़ी प्रतिस्पद्र्धा और तनाव के माहौल में भी शांत रहकर अपना कार्य कर सकते हैं।
उन्होंने कोरोना काल का उदाहरण देते हुए कहा कि लोग कहते थे कि उन्हें घर के अंदररहना मुश्किल है लेकिन हम तीन माह तक घरों में कैद रहे। साथ ही खुशी-खुशी समय भी बिताया। क्योंकि उस समय सभी को सबसे ज्यादा अपने स्वास्थ्य की चिंता थी।
उन्होंने कहा कि कुछसमय अपने लिएनिकालकर रोज सुबह परमात्मा पिता, ईश्वर का ध्यान जरूर करें। इससे मानसिक स्तर पर जहां शांति महसूस होगी, वहीं हमारी कार्यक्षमता भी बढ़ेगी। साथ ही सोने से पहले अपने सारे दिन का समाचार परमात्मा को सुनाकर और सारी समस्याएं-परेशानियां उन्हें सुनाकर सो जाएं। इससे गहरी नींद आती है और मन हल्का रहता है। सबसे पहले बीमारी हमारे मन में आती है। यदि हमारा मन सशक्त, शक्तिशाली और मजबूत है तो आधी बीमारी ऐसे ही खत्म हो जाती है। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुएहमें सबसे पहले अपना मानसिक, बौद्धिक स्तर पर मजबूत बनने की जरूरत है। आज सबसे ज्यादा मन की इम्युनिटी बढ़ाने की जरूरत है।
सुबह उठते ही करें शक्तिशाली संकल्प…
रोज सुबह उठते ही संकल्प करें कि मैं महान आत्मा हूं…. मैं शांत आत्मा हूं… मैं शुद्ध आत्मा हूं… मैं कल्याणकारी आत्मा हूं… सफलता मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है। संचालन बीके शिवांगी बहन ने किया। आभार मानते हुए संस्थान के पीआरओ बीके कोमल ने कहा कि आप सभी सहपरिवार पधारे, आपका अपने घर में स्वागत है।
इस मौके पर बीके रामसुख मिश्रा, बीके जगदीश भाई, बीके देव भाई, बीके मोहन भाई, बीके अमरदीप भाई सहित आबू रोड के सभी पत्रकारगण सहपरिवार उपस्थित रहे।
फोटो- कार्यक्रम में संबोधित करते हुए बीके सुषमा दीदी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *