सभी आध्यात्मिक जगत की सबसे बेहतरीन ख़बरें
ब्रेकिंग
सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें ताकत दे सकता है कला के जादू से जीवंत हो उठी रचनाएं, सम्मान से बढ़ाया कलाकारों का मान कलाकार कैनवास पर उकेर रहे मन के भाव कारगिल युद्ध में परमात्मा की याद से विजय पाई: ब्रिगेडियर हरवीर सिंह भारत और नेपाल में भाईचारा का नाता है: नेपाल महापौर विष्णु विशाल राजनेताओं का जीवन आध्यात्मिक होगा तो भारत समृद्ध बनेगा सेना जितनी सशक्त रहेगी हम उतनी शांति से रहेंगे: नौसेना उपप्रमुख घोरमडे
अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति दिवस २१ सितम्बर पर ऑनलाइन प्रतियोगिता वेबीनार - Shiv Amantran | Brahma Kumaris
अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति दिवस २१ सितम्बर पर ऑनलाइन प्रतियोगिता वेबीनार

अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति दिवस २१ सितम्बर पर ऑनलाइन प्रतियोगिता वेबीनार

राजस्थान राज्य समाचार

अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति दिवस २१ सितम्बर को ब्रह्माकुमारी राजयोग केन्द्र भीनमाल द्वारा ऑनलाइन ज़ूम/ यूट्यूब पर लाइव वेबीनार शाम ६ बजे आयोजित हुआ। जिसमें जम्मू एंड कश्मीर से बी के रत्न भाई, नाडियाड गुजरात से बी के बिपिन भाई, स्थानीय आदर्श विद्या मंदिर के प्रिंसिपल भ्राता नरेन्द्रजी आचार्य, माउंट आबू से यूथ विंग के बी के जीतू भाई, बी के गीता बहन( प्रभारी भीनमाल ) , बहन हर्षा ( मुंबई), एवं कुछ युवाओं ने जैसे हैता भायाणी ( कम्प्यूटर इंजिनियर_ अहमदाबाद), एवं ओम गोस्वामी ( ११ वि छात्र) मुंबई ने अपने विचार शान्ति दिवस एवं ऑनलाइन शान्ति चित्र एवं स्लोगन प्रतियोगिता के बारे में व्यक्त किए। इस वेबीनार में बीके विपिन भाई ने कहा कि शांति के बिना एकाग्रता नहीं और एकाग्रता नहीं तो सफलता नहीं तो हमेशा अपनी शांति को बनाए रखें हमारा अस्त्र और शस्त्र शांति ही है शांति एक शक्ति है। नरेंद्र जी आचार्य ने कहा  शांति और क्षमा यह संसार की सबसे बड़ी संज्ञा है, उन्होंने ब्रह्माकुमारीज के प्रयासों की प्रशंसा की सभी प्रतिभागियों को चित्रकला की बधाई दी। बीके रतन भाई ने कहा इस विश्व शांति दिवस पर हमें यह प्रतिज्ञा करनी चाहिए कि हम कोई भी अस्त्र या शस्त्र अपने हाथों में नहीं उठाएंगे। ब्रह्माकुमारी राजयोग केंद्र की संचालिका बी के गीता बहन ने कहा कि मन की स्थिरता से ही शांति संभव है उन्होंने विश्व शांति के लिए मेडिटेशन करवाया। उन्होने बताया इस प्रतियोगिता में एंजल ग्रुप में 45 तो डायमंड ग्रुप में 8 प्रतिभागियों ने भाग लिया साथ ही उन्होने प्रतियोगिता में विजयी बच्चो का अभिवादन एवं इनामो की घोषणा की ।

इस प्रतियोगिता में सभी प्रतिभागियों ने शांति का पाठ व ध्यान कोरोना पीड़ितों के लिए अपने फोटो भी भेजे जिसको वेबिनर के दौरान दिखाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.